100+ Best Khamoshi Shayari in Hindi with Image | ख़ामोशी शायरी

 100+ Best Khamoshi Shayari in Hindi with Image

दोस्तों आज हम आपको कुछ स्पेशल Khamoshi Shayari पढ़ाने जा आढ़े जो आपको बहुत ज्यादा पसंद आएगी क्योंकि यह Khamoshi Shayari केवल उन लोगों के लिए है जो आपके साथ तो रहते है लेकिन उनके चहरे पर हमेशा आप खामोशी देखते हो और आप चाहते हो की आप उनकी इस खामोशी को एक स्माइल मे बादलों और उनको एक खुशी के पल का अहसास दिलाओ तो आइए सुरू करिए पढ़ना इन सभी Khamoshi Shayari को और फिर इनको भेजिए उनको जिनको खामोशी आप मुस्कुराहट मे बदलना चाहते हो।
तो आइए सुरू करिए पढ़ना इन सभी खामोशी शायरी को पढ़ना फिर इन शायरी की मदद से आप अपने प्रिय दोस्त, पार्टनर, जीवन साथी की खामोशी को बदलिए एक अच्छी सी मुस्कुराहट मे क्योंकि उनकी मुस्कुराहट आपके लिए बहुत कुछ है। आप ऐसे तो उनको इसी तरह खामोशी मे तो रहने नहीं देंगे क्योंकि ये तो आप भी जानते हो खामोशी कितनी ज्यादा खराब है।
तो आइए सुरू करिए पढ़ना इन सभी Khamoshi Shayari को फिर शेयर भी करिए इन Meri Khamoshi Shayri को अपने सच्चे साथी के साथ तो आइए सुरू करिए पढ़ना इन सभी शायरी को बिना समय बर्बाद किए।
Khamoshi Shayari in Hindi
अब आपको हम यह Khamoshi Shayari in Hindi पढ़ाने जा रहे जो आपको बहुत पसंद आएगी आप बस इनको सीधे पढे और फिर शेयर कर दे ताकि आपके पार्टनर भी इन सभी शायरी को पढे और अपने खामोशी की बदले।

Khamoshi Shayari

जिंदगी के लिये जान ज़रूरी है,
जीने के लिये अरमान ज़रूरी है,
हमारे पास हो चाहे कितना भी गम,
लेकिन तेरे चहरे पर मुस्कान ज़रूरी है.,
चलो अब जाने भी दो यार क्या करोगे दास्तान सुनकर,
खामोशी तुम समझोगे नहीं और बयां हमसे होगा नहीं.,
तड़प रहे है हम तुमसे एक अल्फाज के लिए,
तोड़ दो खामोशी हमें जिन्दा रखने के लिए.,
तेरी खामोशियों को पढ़कर खामोश हो जाता हूं,
भला कर भी क्या सकता हूं गम-ए-आगोश हो जाता हूं.,
क्यों करते हो मुझसे इतनी ख़ामोश मोहब्बत,
लोग समजते है इस बदनसीब का कोई नहीं.,
Khamoshi-Shayari
Khamoshi Shayari

Khamoshi Shayari in Hindi with Image

जब इंसान अंदर से टूट जाता हैं,
तो अक्सर बाहर से खामोश हो जाता हैं.,
मेरी जिंदगी में मेरे दोस्तों ने मुझको खूब हँसाया,
घर की जरूरतों ने मेरे चेहरे पर सिर्फ खामोशी ही लाया.,

Raksha Bandhan Shayari Hindi

कभी सावन के शोर ने मदहोश किया था मौसम,
आज पतझड़ में हर दरख़्त खामोश खड़ा है.,
चलो अब जाने भी दो यार क्या करोगे दास्तान सुनकर,
खामोशी तुम समझोगे नहीं और बयां हमसे होगा नही.,
ये मंजर जो दिख रहा है तेज आंधियों का,
इससे पहले यहाँ एक ख़ामोशी भी छाई थी.,
Khamoshi-Shayari
Khamoshi Shayari

Khamoshi Shayari Hindi

उन तमाम शिकायतों से ज्यादा मेरी यह
खामोशियाँ आदि लगने लगी है मुझे…
कौन जाने के किसे खबर लग गई है..
हमारे रिश्ते को किसी की नज़र लग गई है.
मुलाकातों के सारे पन्ने भरेंगे,,
अभी तो ख़ामोशी सुनो तुम
गुफ्तगू फिर कभी करेंगे.
अपनी भी कहानी मुक़म्मल है जनाब,
सफर का पता नहीं: पर हर एक लम्हा
खूबसूरत एहसास से भरा है.
खामोशिया भी शोर करने लगी है बे तहाषा,
अब तो लगता है सुकूं काबर हे ही मिलेगा.
Khamoshi-Shayari
Khamoshi Shayari

Khamoshi Shayari 2 Line

उनके लफ्ज़ हमे खामोश कर गे,
वरना गुफ्तगू हम भी कमाल की किया करते थे.
तो फिर क्या ज़िन्दगी एक ऐसा मंजर बन गई.
जिसमे एक गहरी ख़ामोशी है..!
सारे लोग पहेली सुलझाने में लगे है अपनी तरफ से..
जो मैं हूँ, नहीं वो बता देते है..
जो हो, वो दीखता ही नहीं..
इतना बातूनी होना ठीक नहीं तेरा इ ख़ामोशी..!
कुछ बोल हमें भी बोलने दिया कर.
अक्सर खामोशियो से पढ़ा था.
तेरे इश्तेहार इ शिकायत को,
और गनीमत है,
की तुझे फिर भी शिकायत थी.
Khamoshi-Shayari
Khamoshi Shayari

Khamoshi Shayari in Hindi 2022

ख़ामोशी 🤫से धड़कन के सामान हैं
जिसे तुम एहसास 😶से ही समझ
सकते हो
ख़ामोशी🤫 की तह में छुपा लीजिये उलझने
क्योकि शोर कभी मुश्किल😔 आसन नहीं करती
जब इंसान अन्दर से टूट😔 जाता हैं
तो अक्सर बहार से खामोश🤫 जो जाता हैं
इस ख़ामोशी🤫 को मेरी
कमजोरी 😔 मत समझना
कलम झटकता हु तो
स्याही अब ही बहत दूर तक जाती हैं
ये दुनिया बड़ी जालिम हैं
उसे आपको ख़ामोशी 🤫 से क्या लेना
इस दुनिया को तो बस
आपकी दर्द से मजा लेने से हैं
Khamoshi-Shayari
Khamoshi Shayari

Leave a Comment