Narendra Modi Shayari | Narendra modi par Shayari | Modi Ji par Shayari

Narendra Modi Shayari | Narendra modi par Shayari | Modi Ji par Shayari

Hello doston jesa ki Aap sab log jante ho ki Aaj 17 September hai Aur aaj Hamara Desh Ke Pradhanmantri Shri Narendra Modi ji ka janmdin hai.  so doston is avsar Per main aap Logon ke liye Lekar Aaya hun Narendra Modi Shayari , Narendra modi par Shayari, Modi Ji par Shayari.

Ummid karta hun aap Logon Ko yah wishesh Pasand Aayegi aur Narendra Modi Shayari , Narendra modi par Shayari, Modi Ji par Shayari Aap log Apne status per lagaoge. apna time dene ke liye dhanyvad.

Narendra Modi Shayari

जहाँ हर सर झुक जाये वही मंदिर है,
जहाँ हर नदी समा जाये वही समंदर है,
जीवन की इस कर्म भूमी में युद्ध बहुत है,
जो हर जंग जीत जाये वही मोदी जैसा सिकंदर है… 💪💪💪

Narendra-Modi-Shayari
Narendra Modi Shayari

उबलते हुए खून की रवानी हैं मोदी,
इस देश के युवा की जवानी हैं मोदी,
सोये हुए थे जो अब तक हिन्दुस्तानी,
उनके जाग उठने की कहानी हैं मोदी…

Narendra-Modi-Shayari
Narendra Modi Shayari

सब जोड़ी स्वर्ग में नहीं बनती,
कुछ मोदी के खौफ से भी बनती है…!!

Narendra-Modi-Shayari
Narendra Modi Shayari

Narendra modi par Shayari 

सीने में प्यार भर दूँ,
मैं वो नेता हूँ जो पत्थर को मोम कर दूँ… 🤗🤗🤗

Narendra-Modi-Shayari
Narendra Modi Shayari

वक्त कम हैं जितना दम हैं लगा दो,
कुछ लोगो को मैं जगाता हूँ,
कुछ लोगो को तुम जगा दो…

Narendra-Modi-Shayari
Narendra Modi Shayari

तू गुजरात की जनता और मैं तेरा मोदी,
लाख अल्पेश, जिग्नेश, हार्दिक, राहुल दम लगा ले,
मगर तुझे मुझसे कोई अलग नहीं कर सकता…👊👊👊

Narendra-Modi-Shayari
Narendra Modi Shayari

Modi Ji par Shayari

डरते वो हैं जो अपनी छवि के लिए मरते हैं,
मैं तो हिन्दुस्तान की छवि के लिए मरता हूँ,
इसलिए किसी से नही डरता हूँ…

Narendra-Modi-Shayari
Narendra Modi Shayari

वो लूट रहे हैं सपनों को,
मैं चैन से कैसे सो जाऊ,
वो बेच रहे हैं भारत को,
ख़ामोश मैं कैसे हो जाऊ…

Narendra-Modi-Shayari
Narendra Modi Shayari

सफ़र में धूप तो होगी,
जो चल सको तो चलो,
सभी हैं भीड़ में,
तुम भी निकल सको तो चलो…🙏🙏🙏

Narendra-Modi-Shayari
Narendra Modi Shayari

विश्व में पहचान बनानी हैं
खोई प्रतिष्ठा फिर से पानी हैं,
मत फसना झूठे वादों में
अबकी सरकार मोदी की लानी हैं…

Narendra-Modi-Shayari
Narendra Modi Shayari

Leave a Comment